लक्ष्य निर्धारण मे बने स्मार्ट

लक्ष्य

Spread the love

Last Updated on

अगर आप अपनी मंजिल नहीं जानते तो वहाँ तक कैसे जा सकेंगे | जीवन में अपने लक्ष्यों और उद्देश्यों को जानें और उनके लिए दिन-रात मेहनत करें | ये लक्ष्य ही आपको आपके सपनों तक ले जाएंगे | जीवन की चुनौतियों आपको पट से भटका सकती है पर लक्ष्य हमें सही मार्ग पर बने रहने का मार्गदर्शन करते है | हमलोग जानते है कि अपने सपनों को साकार करने के लिए लक्ष्य कितना महत्वपूर्ण है | इसलिए हम आपके लिए लाये है लक्ष्य निर्धारण मे स्मार्ट (Smart) बनने के तरीके |

 1. विशिष्ट ( S-Specific): आपका लक्ष्य में कुछ विशेस्ता होनी चाहिए | जिससे आपको हमेसा आपके लक्ष्य पर फोकस करने मे ध्यान आक्रशित करता रहेगा | आपको यह ग्यात होना चाहिए कि आप किसी लक्ष्य से क्या चाहते है ? अगर आप अपने कार्य क्षेत्र जैसे शिक्षा, व्यापार , खेल , मनोरंजन इत्यादि मे मंजिल प्रपट करना चाहते है तो उस क्षेत्र मे विस्तार से जानकारी रखनी होगी | विशिष्टा ही आपको हर दिन-रात कार्य करने के लिए उसकता रहेगा | आपके दिमाग मे भी हमेशा उस लक्ष्य की आद बनी रहेगी |

2. मापने योग्य (M-Measurable) : आपके द्वारा तय कि गई लक्ष्यों के प्रति आपकी प्रगति येसी होना चाहिए जिसे आप मापा जा सके | अगर हम लक्ष्य को मॅप नहीं सकते तो हम उसे प्राप्त भी नहीं कर पाएंगे | प्रगति की माप आपके लिए प्रेरणा देने का काम करती है | अगर आपको लगता है कि आप भरपूर प्रगति नहीं कर प रहे हैं उस समय आप उसके अनुसार अपनी रणनीति मे बादल भी सकते हैं | हमे अपने लक्ष्य मापने योग्य बनाने होंगे |

3. पाने योग्य (A-Attainable) : आपका लक्ष्य एसे हों जो आपके पहुँच पर हों | आपको चुनौतीपूर्ण

लक्ष्य बनाने चाहिए , जिन्हे पाया जा सके | भले ही लक्ष्य चुनौतीपूर्ण हों , पर वे एसे न हों जिसे प्राप्त नहीं किया जा सके | उसे आँख से ओझल नहीं होने दें वरना आपके हाथ से निकाल सकता है | लक्ष्य  ऐसे होने चाहिए कि आप अपनी संभवना को पूरा कर सकें | कई बार लोग दूसरों को प्रभावित करने के लिए लक्ष्य  बना लेते है परंतु बिना सोचे-समझे लक्ष्य  बनते है और बाद मेन असफल होने पर लक्ष्यों की विशालता को दोषी देने लगते है | आपको लक्ष्य  कठिन भले ही हों पर असंभाव नहीं होने चाहिए | इसलिए लक्ष्य  पाने योग्य होने चाहिए ताकि पूरा किया जा सके |

Accelerated Goal Achievement

Accelerated Goal Achievement: An Authentic Approach To Set And Achieve Goals Faster Kindle Edition

by Virend Singh (Author), Verusha Singh

4. यथार्थ (R-Realistic) : आपका लक्ष्य आपसे जुड़े होने चाहिए | जेसे आपको कल्पना और लक्ष्य मे अंतर करना आता हों |

5. समय-सीमा (T-Time bound) : आपके पास अपने लक्ष्यों के लिए समय सीमा रेखा होनी चाहिए | आपके पास उन्हें आरंभ और अंत करने का समय होना चाहिए | आप लक्ष्य आरंभ करने के साथ अपने समय का निवेश कर रहें | आपके पास लक्ष्य को पूरा करने कि सीमा रेखा हों टंकी आप अनावश्यक विलंब से बचें और अपने निवेश के लिए बेहतर वापसी पा सकें |

  6. क्रियान्वयन (E-Execution) : यह हमारे मॉडल का सबसे अहम हिस्सा हैं| आपने सारे विकल्पो पर विचार करते हुये, अपने लक्ष्य तक जाने के लिए मार्ग चुन लिया है | जब तक आप इसे लागू नहीं करेंगे , लक्ष्य आपके हाथ नहीं आ सकता | लक्ष्य को साकार रूप मेन पाना चाहते हों तो आपनि योग्यताओं आ क्षमताओं पर पूरा भरोसा बनाए रखें |

7. पृस्कृत (R-Rewarding) : जब आप लक्ष्यों कि उपलब्धि से जुड़े पुरस्कारों को समझ लेंगे तो वे आपके लिए प्रेरणा का साधन बनेंगे | स्वयंग से पूंछें कि कोई लक्ष्य पूरा होने से आपको क्या लाभ होगा | यह उत्तर मृत या अमृत हो सकता है| उत्तर जो भी हो, आपको अपने कड़े परिश्रम और लगन का पुरुस्कार अवश्य मिलेगा |

Rewarding Your Employees in Tight Salary Times -- Vol. 2: Some Additional Techniques (Rewarding Your Employee In Tight Salary

Rewarding Your Employees in Tight Salary Times — Vol. 2: Some Additional Techniques (Rewarding Your Employee In Tight Salary 

  • पचासी वर्ष की आयु और पचास वर्ष से भी अधिक समय तक दुनिया को बहुत कुछ देते रहनेवाले जिग जिगलर प्रेरणादायी और उत्साहवर्धक बातचीत का एक ऐसा प्रतिष्ठित नाम बन चुके हैं, जिन्हें कई लोग प्रेरणा और संतुलित जीवन का जनक तक कहते हैं। उनकी आखिरी और अब तक की सबसे विस्तृत और समग्र पुस्तक पेश है आपकी जीत!
  • जानिए अपनी सफलता का सूत्र। जिग जिगलर की आखिरी पुस्तक में जीवन का कायाकल्प करनेवाले साधनों और उपायों से जुड़े साढ़े चार दशक के अनुभवों को प्रेरक, संक्षिप्त और सरल रूप में समेटा गया है |

यह GOALS का हिंदी अनुवाद है। यह पुस्तक एक सरल शक्तिशाली और प्रभावी लक्ष्य निर्धारण और लक्ष्य प्राप्ति पद्धति को प्रस्तुत करती है जिसका उपयोग असाधारण चीजों को प्राप्त करने के लिए दस लाख से अधिक लोगों द्वारा किया गया है

Lakshya (Goals) (Hindi) (Hindi) Paperback – 2010

by Brian Tracy  (Author)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *